केंद्रीय हिंदी निदेशालय (उच्चतर शिक्षा विभाग)
दृश्य-श्रव्य
हिंदी ऑडियो कैसेट्स
हिंदी वीडियो कैसेट्स
सी.डी.
अन्य सूचनाऍ
डाउनलोड फाम
 नई सूचनाऍ
आकॉइव्स
मुख्य पृष्ठ
प्रकाशन एवं वितरण  
   
 

कोशों का संकलन एवं प्रकाशन

 
 

त्रिभाषा कोश योजना 

 
  सन् 1969 में त्रिभाषा कोश योजना बनी । सन् 1971 में निदेशालय ने इन कोशों के निर्माण का काम हाथ में लिया ।  
 

भारतीय शिक्षा जगत में त्रिभाषा सूत्र लागू किया गया, तभी से इस बात की आवश्यकता महसूस की जाती रही है कि ऐसे कोश तैयार किए जाएँ जिनमें हिंदी-प्रादेशिक भाषा-अंग्रेज़ी तीनों के समानांतर क्रम में शब्द पर्याय दिए जाएँ ताकि संविधान स्वीकृत किसी एक भाषा को जानने वाला भारतीय भाषाओं और अंग्रेज़ी के समानार्थक शब्द एक साथ देख सके । इस लक्ष्य के लिए त्रिभाषा कोश माला योजना का आरंभ हुआ ।

 
  संविधान स्वीकृत किसी एक भाषा को जानने वाले छात्र, शोधकर्ता आदि के लिए भाषा का आदान-प्रदान सरल बनाने के से निम्‍नलिखित कोशों का निर्माण किया गया/ जा रहा है ।  
     
 
  हिंदी मूलक कोश
1.

हिंदी-असमिया-अंग्रेज़ी कोश :- हिंदी-असमिया-अंग्रेजी कोश में हिंदी के लगभग 20,000 शब्‍द मुख्‍य  के रूप में संकलित हैं । शब्‍द-चयन का आधार दैनिक व्‍यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्‍द रहे हैं । इस कोश में छह स्‍तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्‍द मूल के रूप में । 2. उनकी व्‍याकरणिक कोटि । 3. मूल की विविध अर्थच्‍छायाऍं । 4. हिंदी अर्थच्‍छायाओं के असमिया पर्याय । 5. असमिया पर्यायों का देवनागरी लिप्‍यंतरण । 6. हिंदी अर्थच्‍छायाओं के अंग्रेजी पर्याय । देवनागरी लिप्‍यंतरण की सहायता से इस कोश का प्रयोक्‍ता असमिया शब्‍दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है । यह कोश 3 जिल्‍दों में प्रकाशित है । समेकित मूल्‍य : 2982.00, कुल पृष्‍ठ : 2216, प्रकाशन वर्ष : 2006 ।

2

हिंदी-बंगला-अंग्रेज़ी कोश :- हिंदी-बंगला-अंग्रेज़ी कोश तीन जिल्दों में प्रकाशित है और इसमें हिंदी की लगभग 20,000 संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं इस कोश में छह स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. मूल की हिंदी अर्थच्छायाएँ, 4. हिंदी शब्दों के बंगला पर्याय, 5. बंगला पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण, 6. हिंदी शब्दों के अंग्रेज़ी पर्याय देवनागरी लिप्यंतरण की सहायता से इस कोश का प्रयोक्‍ता बंगला शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है मूल्य : रु॰ 642.00, कुल पृष्‍ठ संख्या : 2216, प्रकाशन वर्ष : 1989

3. हिंदी-गुजराती-अंग्रेज़ी कोश :- हिंदी-गुजराती-अंग्रेज़ी कोश तीन जिल्दों में प्रकाशित है और इसमें हिंदी की लगभग 20,000 संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं इस कोश में छह स्तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. मूल की हिंदी अर्थच्छायाएँ, 4. हिंदी शब्दों के गुजराती पर्याय, 5. गुजराती पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण, 6. हिंदी शब्दों के अंग्रेज़ी पर्याय देवनागरी लिप्यंतरण की सहायता से इस कोश का प्रयोक्‍ता गुजराती शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है मूल्य : रु॰ 464.00, कुल पृष्‍ठ संख्या : 2216, प्रकाशन वर्ष : 1985
4. हिंदी-कन्‍नड़-अंग्रेज़ी कोश :- हिंदी-कन्‍नड़-अंग्रेजी कोश में हिंदी के लगभग 20,000 शब्‍द मूल के रूप में संकलित है । शब्‍द-चयन का मुख्‍य आधार दैनिक व्‍यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्‍द रहे हैं । इस कोश में छह स्‍तंभ है, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्‍द मूल के रूप में । 2. उनकी व्‍याकरणिक कोटि । 3. मूल की हिंदी अर्थच्‍छायाऍं । 4. हिंदी अर्थच्‍छायायों के कन्‍नड़ पर्याय । 5. कन्‍नड़ पर्यायों का देवनागरी लिप्‍यंतरण । 6. हिंदी अर्थच्‍छायाओं के अंग्रेजी पर्याय । देवनागरी लिप्‍यंतरण की सहायता से इस कोश का प्रयोक्‍ता कन्‍नड़ शब्‍दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है । इस कोश का मुनर्मुद्रण किया गया है । समेकित मूल्‍य : 1795.00, कुल पृष्‍ठ : 2216, प्रकाशन वर्ष : जिल्‍द I- 2000, जिल्‍द II- 2000, जिल्‍द III- 2001 ।
5.

हिंदी-कश्मीरी-अंग्रेज़ी कोश :- हिंदी-कश्मीरी-अंग्रेज़ी कोश तीन जिल्दों में प्रकाशित है और इसमें हिंदी की लगभग 20,000 संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं इस कोश में छह स्तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. मूल की हिंदी अर्थच्छायाएँ, 4. हिंदी शब्दों के कश्मीरी पर्याय, 5. कश्मीरी पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण, 6. हिंदी शब्दों के अंग्रेज़ी पर्याय देवनागरी लिप्यंतरण की सहायता से इस कोश का प्रयोक्‍ता कश्मीरी शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है मूल्य : रु॰ 641.00, कुल पृष्‍ठ संख्या : 2216, प्रकाशन वर्ष : 1988

6.

हिंदी-मलयालम-अंग्रेज़ी कोश :- हिंदी-मलयालम-अंग्रेज़ी कोश तीन जिल्दों में प्रकाशित है और इसमें हिंदी की लगभग 20,000 संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं इस कोश में छह स्तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. मूल की हिंदी अर्थच्छायाएँ, 4. हिंदी शब्दों के मलयालम पर्याय, 5. मलयालम पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण, 6. हिंदी शब्दों के अंग्रेज़ी पर्याय देवनागरी लिप्यंतरण की सहायता से इस कोश का प्रयोक्‍ता मलयालम शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है मूल्य :- रु॰ 464.00, कुल पृष्‍ठ संख्या :- 2216, प्रकाशन वर्ष :- 1986

7. हिंदी-मराठी-अंग्रेज़ी कोश :- हिंदी-मराठी-अंग्रेजी कोश में हिंदी के लगभग 20,000 शब्‍द मुख्‍य प्रविष्टियों के रूप में संकलित हैं । शब्‍द-चयन का आधार दैनिक व्‍यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्‍द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्‍तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी के शब्‍द मूल के रूप में । 2. उनकी व्‍याकरणिक कोटि । 3. की हिंदी अर्थच्‍छायाऍं । 4. उनके मराठी पर्याय । 5. उनके अंग्रेजी पर्याय यह कोश 3 जिल्‍दों में प्रकाशित है । मूल्‍य : रु॰ 1424.00
8.

हिंदी-पंजाबी-अंग्रेज़ी कोश :- हिंदी-पंजाबी-अंग्रेजी कोश में हिंदी की लगभग 20,000 संकलित हैं । शब्‍द-चयन का मुख्‍य आधार दैनिक व्‍यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्‍द रहे हैं । इस कोश में छह स्‍तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्‍द मूल के रूप में । 2. उनकी व्‍याकरणिक कोटि । 3. मूल की विभिन्‍न अर्थच्‍छायाऍं । 4. उनके पंजाबी पर्याय । 5. पंजाबी पर्यायों का देवनागरी लिप्‍यंतरण । 6. हिंदी अर्थच्‍छायाओं के अंग्रेजी पर्याय । देवनागरी लिप्‍यंतरण की सहायता से इस कोश का प्रयोक्‍ता पंजाबी शब्‍दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है । समेकित मूल्‍य : 1924.00,  कुल पृष्‍ठ : 2216 प्रकाशन वर्ष : 2004

9. हिंदी-सिंधी-अंग्रेज़ी कोश :- हिंदी-सिंधी-अंग्रेज़ी कोश तीन जिल्दों में प्रकाशित है और इसमें हिंदी की लगभग 20,000 संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं इस कोश में छह स्तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. मूल की हिंदी अर्थच्छायाएँ, 4. हिंदी शब्दों के सिंधी पर्याय, 5. सिंधी पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण, 6. हिंदी शब्दों के अंग्रेज़ी पर्याय देवनागरी लिप्यंतरण की सहायता से इस कोश का प्रयोक्‍ता सिंधी शब्दों का निकटतम उच्‍चारण  आसानी से समझ सकता है मूल्य : रु॰ 631.00, कुल पृष्‍ठ संख्या : 2216, प्रकाशन वर्ष : 1989
10. हिंदी-तमिल-अंग्रेज़ी कोश :- हिंदी-तमिल-अंग्रेज़ी कोश तीन जिल्दों में प्रकाशित है और इसमें हिंदी की लगभग 20,000 संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं इस कोश में छह स्तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. मूल की हिंदी अर्थच्छायाएँ, 4. हिंदी शब्दों के तमिल पर्याय, 5. तमिल पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण, 6. हिंदी शब्दों के अंग्रेज़ी पर्याय देवनागरी लिप्यंतरण की सहायता से इस कोश का प्रयोक्‍ता तमिल शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है मूल्य : रु॰ 464.00, कुल पृष्‍ठ संख्या : 2216, प्रकाशन वर्ष : 1986
11. हिंदी - बोडो - अंग्रेजी कोश :हिंदी बोडो अंग्रेजी कोश में हिंदी के लगभग 20,000 शब्द मुख्य प्रविष्टि के रूप में संकलित है । शब्द - चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में उनका प्रयोग रहा है । इस कोश के चार स्तंभ है जिनका क्रम इस प्रकार है :
1. हिंदी शब्द मूल प्रविष्टि के रूप में 2. व्याकरणिक कोटि 3. बोडो पर्याय 4. अंग्रेजी पर्याय । बोडो पर्याय देवनागरी लिपि में दिए गए हैं । यह कोश प्रकाशाधीन है ।
  भाषा मूलक कोश
1.

गुजराती-हिंदी-अंग्रेज़ी कोश :- गुजराती-हिंदी-अंग्रेज़ी त्रिभाषा कोश में गुजराती भाषा के लगभग 20,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं इस कोश में छह स्तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. गुजराती शब्द मूल के रूप में, 2. गुजराती शब्दों का देवनागरी लिप्यंतरण, 3. उनकी व्याकरणिक कोटि, 4. मूल की अर्थच्छायाएँ, 5. गुजराती शब्दों के हिंदी पर्याय, 6. गुजराती शब्दों के अंग्रेज़ी पर्याय देवनागरी लिप्यंतरण की सहायता से पाठक गुजराती शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है मूल्य : रु॰ 1205.00, कुल पृष्‍ठ संख्या : 2131 (तीन खंड), प्रकाशन वर्ष : 2001

2. बंगला-हिंदी-अंग्रेज़ी कोश :- बंगला-हिंदी-अंग्रेज़ी त्रिभाषा कोश में बंगला भाषा के लगभग 25,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में छह स्तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. बंगला शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि,  3. बंगला शब्दों का देवनागरी लिप्यंतरण, 4. मूल की अर्थच्छायाएँ, 5. बंगला शब्दों के हिंदी पर्याय, 6. बंगला शब्दों के अंग्रेज़ी पर्याय । देवनागरी लिप्यंतरण की सहायता से पाठक बंगला शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है । मूल्य : रु॰ 2982.00, कुल संख्या : तीन खंड, प्रकाशन वर्ष : 1991
3.

मराठी-हिंदी-अंग्रेज़ी कोश :- मराठी-हिंदी-अंग्रेजी कोश में मराठी भाषा के लगभग 20,000 शब्‍द मुख्‍य के रूप में संकलित हैं । शब्‍द-चयन का मुख्‍य आधार दैनिक व्‍यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्‍द रहे हैं । इस कोश में पॉंच स्‍तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. मराठी शब्‍द मूल के रूप में । 2. उनकी व्‍याकरणिक कोटि । 3. मूल की मराठी अर्थच्‍छायाऍं । 4. उनके हिंदी पर्याय । 5. तदनुसान अंग्रेजी पर्याय । समेकित मुल्‍य : रू. 726.00, कुल पृष्‍ठ : 2365, प्रकाशन वर्ष : 2001 (पुनर्मुद्रित) ।

4. तमिल-हिंदी-अंग्रेज़ी कोश :- तमिल - हिंदी - अंग्रेज़ी त्रिभाषा कोश में तमिल भाषा के लगभग 20,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द - चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में छह स्तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. तमिल शब्द मूल के रूप में, 2. तमिल शब्दों का देवनागरी लिप्यंतरण, 3. उनकी व्याकरणिक कोटि, 4. मूल की अर्थच्छायाएँ, 5. तमिल शब्दों के हिंदी पर्याय, 6. तमिल शब्दों के अंग्रेज़ी पर्याय । देवनागरी लिप्यंतरण की सहायता से पाठक तमिल शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझ सकता है । मूल्य : रु॰ 385.00, कुल संख्या : 2131 (तीन खंड), प्रकाशन वर्ष : 1991 ।
 
 

TOP

 
   
 
BACK
INDEX
NEXT
 
मुख्य पृष्ठ