केंद्रीय हिंदी निदेशालय (उच्चतर शिक्षा विभाग)
दृश्य-श्रव्य
हिंदी ऑडियो कैसेट्स
हिंदी वीडियो कैसेट्स
सी.डी.
अन्य सूचनाऍ
डाउनलोड फाम
 नई सूचनाऍ
आकॉइव्स
मुख्य पृष्ठ
प्रकाशन एवं वितरण  
   
 

कोशों का संकलन एवं प्रकाशन

 
 

या व्यावहारिक लधु कोश

 
  संस्कृत को छोडकर संविधान की अनुसूची में परिगणित अन्य सभी भाषाओं के कोश बनाने की सिफारिश कोश समिति ने की थी । तय किया गया था कि 13 हिंदी मूलक और 13 प्रादेशिक भाषा मूलक कोश होंगे ।  
  इस योजना पर 1977 में काम शुरु हुआ, कार्य की गुरूता का पूर्ण अनुमान ठीक से नहीं लगाया जा सका अत: सन् 1980 तक कोई कोश प्रकाशित नहीं हो सका ।    
 

इन कोशों के लिए शब्द संख्या का निर्धारण दस हजार किया गया हैं । हिंदी मूलक कोशों में शब्दावली निदेशालय की है और भाषामूलक कोश, भाषा के पर्यायों का क्रमश: लक्ष्य भाषा और स्रोत भाषा की लिपियों में लिप्यंतरण भी दिया गया है । इस तरह दोनों भाषाओं में से एक की लिपि न जानने वाला प्रयोक्‍ता भी कोशों का सुविधापूर्वक उपयोग कर सकेगा ।

 
  TOP  
 

कोश

 
 

इन कोशों का निर्माण हिंदी-क्षेत्रीय भाषा मूलक कोशों के रूप में किया गया है । हिंदी जगत को क्षेत्रीय भाषाओं और क्षेत्रीय भाषी जनसमुदाय को हिंदी भाषा से परिचित करवाने के से निम्‍न कोश तैयार किए गए हैं :-

 
 
  हिंदी मूलक कोश
1.

हिंदी-असमिया कोश :- हिंदी-असमिया कोश में हिंदी भाषा के लगभग 10,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है  : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. हिंदी शब्दों की व्याकरणिक कोटि, 3. हिंदी शब्दों का असमिया में लिप्यंतरण, 4. हिंदी शब्दों के असमिया पर्याय, 5. असमिया पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण । हिंदी शब्दों के असमिया लिप्यंतरण और असमिया पर्यायों के देवनागरी लिप्यंतरण से किसी एक भाषा की लिपि से अपरिचित इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ता एक-दूसरे की भाषा के निकटतम उच्‍चारण को ठीक प्रकार से जान सकेंगे । मूल्य = रु॰ 88.00, पृष्‍ठ = 436, प्रकाशन वर्ष = 1985 ।

2.

हिंदी-गुजराती कोश :- हिंदी-गुजराती कोश में हिंदी भाषा के लगभग 10,000 शब्द मुख्य के रूप में लिए गए हैं । शब्द-चयन का आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. हिंदी शब्दों की व्याकरणिक कोटि, 3. हिंदी शब्दों का गुजराती लिप्यंतरण, 4. हिंदी शब्दों के गुजराती पर्याय, 5. गुजराती पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण । हिंदी शब्दों के गुजराती लिप्यंतरण और गुजराती पर्यायों के देवनागरी (हिंदी) लिप्यंतरण से किसी एक भाषा की लिपि से अपरिचित इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ता एक-दूसरे की भाषा के निकटतम उच्‍चारण को ठीक प्रकार से जान सकेंगे । मूल्य = रु॰ 91.00, पृष्‍ठ = 383, प्रकाशन वर्ष = 1984 ।

3. हिंदी-कश्मीरी कोश :- हिंदी-कश्मीरी कोश में हिंदी भाषा के लगभग 10,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. हिंदी शब्दों की व्याकरणिक कोटि, 3. हिंदी शब्दों का कश्मीरी लिप्यंतरण, 4. हिंदी शब्दों के कश्मीरी पर्याय, 5. कश्मीरी पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण । हिंदी शब्दों के कश्मीरी लिप्यंतरण और कश्मीरी पर्यायों के देवनागरी लिप्यंतरण से किसी एक भाषा की लिपि से अपरिचित इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ता एक-दूसरे की भाषा के निकटतम उच्‍चारण को ठीक प्रकार से जान सकेंगे । मूल्य = रु॰ 126.00, पृष्‍ठ = 395, प्रकाशन वर्ष = 1989
4.

हिंदी-मराठी कोश :- हिंदी-मराठी कोश में हिंदी भाषा के लगभग 10,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में तीन स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. हिंदी शब्दों के मराठी पर्याय । मराठी भाषा की लिपि देवनागरी ही है अत: इसका लिप्यंतरण करना आवश्यक नहीं है । मूल्य = रु॰ 69.00, पृष्‍ठ = 268, प्रकाशन वर्ष = 1985 ।

5.

हिंदी-मलयालम कोश :- हिंदी-मलयालम कोश में हिंदी की लगभग 10,000 संकलित हैं । शब्द-चयन का आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. हिंदी शब्दों की व्याकरणिक कोटि, 3. हिंदी शब्दों का मलयालम लिप्यंतरण, 4. हिंदी शब्दों के मलयालम पर्याय, 5. मलयालम पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण । हिंदी शब्दों के मलयालम लिप्यंतरण और मलयालम पर्यायों के देवनागरी लिप्यंतरण से किसी एक भाषा की लिपि से अपरिचित इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ता एक-दूसरे की भाषा के निकटतम उच्‍चारण को ठीक प्रकार से जान सकेंगे  । मूल्य = रु॰ 88.00, पृष्‍ठ = 386, प्रकाशन वर्ष = 1987 ।

6.

हिंदी-सिंधी कोश :- हिंदी-सिंधी कोश में हिंदी भाषा की लगभग 10,000 संकलित हैं । शब्द-चयन का आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. हिंदी शब्दों का सिंधी लिप्यंतरण, 4. हिंदी शब्दों के सिंधी पर्याय, 5. सिंधी पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण । हिंदी शब्दों के सिंधी (अरबी-फारसी) लिप्यंतरण और अरबी-फारसी लिपि में प्रस्तुत सिंधी पर्यायों के देवनागरी लिप्यंतरण से दोनों भाषाओं की लिपियों में से किसी एक लिपि से भी अपरिचित प्रयोक्‍ता दोनों भाषाओं के शब्दों के उच्‍चारण को आसानी से जान सकेगा  । मूल्य = रु॰ 88.00, पृष्‍ठ = 447, प्रकाशन वर्ष = 1984 ।

7. हिंदी-तमिल कोश :- हिंदी-तमिल कोश में हिंदी की लगभग 10,000 ली गई हैं । शब्‍द-चयन का आधार दैनिक व्‍यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्‍द हैं । इस कोश में पाँच स्‍तंभ हैं जिसका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्‍द मूल के रूप में । 2. हिंदी शब्‍दों की व्‍याकरणिक कोटि । 3. हिंदी शब्‍दों का तमिल लिप्‍यंतरण । 4. हिंदी शब्‍दों के तमिल पर्याय । 5. तमिल पर्यायों का देवनागरी लिप्‍यंतरण । हिंदी शब्‍दों के तमिल लिप्‍यंतरण और पर्यायों के दवनागरी लिप्‍यंतरण से ही एक भाषा की लिपि से अपरिचित इस कोश के दोनों भाषा-भाषी प्रयोक्‍ता एक-दूसरे की भाषा के निकटतम उच्‍चारण को ठीक प्रकार से जान सकेंगे । मूल्य = रु॰ 125.00
8.

हिंदी-तेलुगु कोश :- हिंदी-तेलुगु कोश में हिंदी के लगभग 10,000 शब्‍द मुख्‍य प्रविष्टियों के रूप में संकलित है । शब्‍द-चयन का मुख्‍य आधार दैनिक व्‍यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्‍द रहे हैं । इस कोश में पांच स्‍तंभ हैं, जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्‍द मूल के रूप में । 2. उनकी व्‍याकरणिक कोटि । 3. हिंदी शब्‍दों का तेलुगु लिप्‍यंतरण । 4. हिंदी शब्‍दों के तेलुगु पर्याय । 5. तेलुगु पर्यायों का देवनागरी लिप्‍यंतरण मूल्य रु. 1115/= - संख्या 658, संस्करण प्रकाशन वर्ष 2007

9. हिंदी-उर्दू कोश :- हिंदी-उर्दू कोश में हिंदी भाषा के लगभग 10,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. हिंदी शब्दों का उर्दू (अरबी-फारसी) में लिप्यंतरण, 4. हिंदी शब्दों के उर्दू पर्याय, 5. अरबी-फारसी में उर्दू पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण । हिंदी शब्दों के उर्दू लिप्यंतरण और उर्दू पर्यायों के देवनागरी लिप्यंतरण से किसी एक भाषा की लिपि से अपरिचित इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ता एक-दूसरे की भाषा के निकटतम उच्‍चारण को ठीक प्रकार से जान सकेंगे । मूल्य = रु॰ 390.00, पृष्‍ठ = 386, प्रकाशन वर्ष = 1984, पुनमुद्रण = 2001 ।
10. हिंदी-ओड़िया कोश :- हिंदी-ओड़िया कोश में हिंदी भाषा के लगभग 10,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. हिंदी शब्दों की व्याकरणिक कोटि, 3. हिंदी शब्दों का ओड़िया लिप्यंतरण, 4. हिंदी शब्दों के ओड़िया पर्याय, 5. ओड़िया पर्यायों का देवनागरी लिप्यंतरण । हिंदी शब्दों के ओड़िया लिप्यंतरण और ओड़िया पर्यायों के देवनागरी लिप्यंतरण से किसी एक भाषा की लिपि से अपरिचित इस कोश के दोनो भाषा भाषी प्रयोक्‍ता एक-दूसरे की भाषा के निकटतम उच्‍चारण को ठीक प्रकार से जान सकेंगे  । मूल्य = रु॰ 88.00, पृष्‍ठ = 424, प्रकाशन वर्ष = 1981 ।
11. व्यावहारिक हिंदी-अंग्रेज़ी शब्दकोश :- व्यावहारिक हिंदी-अंग्रेज़ी शब्द कोश में हिंदी की लगभग 7000  संकलित हैं शब्द-चयन का आधार हिंदी साहित्य की विभिन्‍न विधाओं, मानविकी, प्रशासन, विज्ञान कंप्यूटर आदि क्षेत्रों में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । कोश के पाँच स्तंभों का क्रम इस प्रकार है : 1. हिंदी शब्द मूल के रूप में, 2. हिंदी शब्दों का रोमन लिप्यंतरण, 3. उनकी व्याकरणिक कोटि तथा 4. हिंदी शब्दों के अंग्रेज़ी पर्याय । मूल्य :- रु. 475.00, $ 12, £ 7, पृष्‍ठ :- 678, प्रकाशन वर्ष :- 2006 (संशोधित एवं परिवर्धित संस्करण) ।
  भाषा मूलक कोश
1.

मलयालम-हिंदी कोश :- मलयालम-हिंदी कोश में मलयालम भाषा के लगभग 10,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. मलयालम के शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. मलयालम शब्दों का देवनागरी लिप्यंतरण, 4. मलयालम शब्दों के हिंदी पर्याय, 5. हिंदी पर्यायों का मलयालम लिप्यंतरण । मलयालम शब्दों के देवनागरी लिप्यंतरण से तथा उनके हिंदी पर्यायों के भी मलयालम लिप्यंतरण से इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ताओं को संबंधित भाषा के शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझने में सहायता मिलेगी । मूल्य = रु॰ 215.00, पृष्‍ठ = 641, प्रकाशन वर्ष = 1991

2. उर्दू-हिंदी कोश :- उर्दू-हिंदी कोश में उर्दू भाषा के लगभग 10,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. उर्दू शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. उर्दू शब्दों का देवनागरी लिप्यंतरण, 4. उर्दू शब्दों के हिंदी पर्याय, 5. हिंदी पर्यायों का उर्दू लिप्यंतरण । उर्दू शब्दों के देवनागरी लिप्यंतरण से तथा उनके हिंदी पर्यायों के भी उर्दू में लिप्यंतरण से इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ताओं को संबंधित भाषा के शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझने में सहायता मिलेगी इस कोश का संशोधित संस्करण प्रकाशनाधीन है
3. ड़िया-हिंदी कोश :- ओड़िया-हिंदी कोश में ओड़िया भाषा के लगभग 10,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में प्रयुक्‍त होने वाले शब्द रहे हैं । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. ओड़िया शब्द मूल के रूप में, 2. उनकी व्याकरणिक कोटि, 3. ओड़िया शब्दों का देवनागरी लिप्यंतरण, 4. ओड़िया शब्दों के हिंदी पर्याय, 5. हिंदी पर्यायों का ओड़िया लिप्यंतरण । ओड़िया शब्दों के देवनागरी लिप्यंतरण से तथा उनके हिंदी पर्यायों के भी ओड़िया में लिप्यंतरण से इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ताओं को संबंधित भाषा के शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझने में सहायता मिलेगी । मूल्य = रु॰ 196.00, पृष्‍ठ = 590, प्रकाशन वर्ष = 1990
4. पंजाबी-हिंदी कोश :- पंजाबी-हिंदी कोश में पंजाबी भाषा के लगभग 50,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में उनका प्रयोग रहा है । इस कोश में चार स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. पंजाबी शब्द मूल के रूप में, 2. पंजाबी शब्दों का देवनागरी लिप्यंतरण, 3. पंजाबी शब्दों की व्याकरणिक कोटि, 4. पंजाबी शब्दों के हिंदी पर्याय, 5. हिंदी पर्यायों का पंजाबी में लिप्यंतरण । पंजाबी शब्दों के देवनागरी लिप्यंतरण से तथा उनके हिंदी पर्यायों के पंजाबी में लिप्यंतरण से इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ताओं को संबंधित भाषा के शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझने में सहायता मिलेगी  । यह कोश प्रकाशनाधीन है
5. गुजराती-हिंदी कोश :- गुजराती-हिंदी कोश में गुजराती भाषा के लगभग 15,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में उनका प्रयोग रहा है । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. गुजराती शब्द मूल के रूप में, 2. गुजराती शब्दों की व्याकरणिक कोटि, 3. गुजराती शब्दों का देवनागरी लिप्यंतरण, 4. गुजराती शब्दों के हिंदी पर्याय, 5. हिंदी पर्यायों का गुजराती लिप्यंतरण । गुजराती शब्दों के देवनागरी लिप्यंतरण से तथा उनके हिंदी पर्यायों के भी गुजराती में लिप्यंतरण से इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ताओं को संबंधित भाषा के शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझने में सहायता मिलेगी यह कोश निर्माणाधीन है
6. कश्मीरी-हिंदी कोश :- कश्मीरी-हिंदी कोश में कश्मीरी भाषा के लगभग 10,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में उनका प्रयोग रहा है  । इस कोश में चार स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. कश्मीरी शब्द मूल के रूप में, 2. कश्मीरी शब्दों की व्याकरणिक कोटि, 3. कश्मीरी शब्दों का देवनागरी लिप्यंतरण, 4. कश्मीरी शब्दों के हिंदी पर्याय । कश्मीरी शब्दों के देवनागरी लिप्यंतरण से तथा उनके हिंदी पर्यायों के भी कश्मीरी में लिप्यंतरण से इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ताओं को संबंधित भाषा के शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझने में सहायता मिलेगी यह कोश प्रकाशनाधीन है
7. तमिल-हिंदी कोश :- तमिल-हिंदी कोश में तमिल भाषा के लगभग 20,000 शब्द मुख्य के रूप में संकलित हैं । शब्द-चयन का मुख्य आधार दैनिक व्यवहार में उनका प्रयोग रहा है । इस कोश में पाँच स्तंभ हैं जिनका क्रम इस प्रकार है : 1. तमिल शब्द मूल के रूप में, 2. तमिल शब्दों की व्याकरणिक कोटि, 3. तमिल शब्दों के हिंदी पर्याय, 4. तमिल शब्दों का देवनागरी लिप्यंतरण, 5. हिंदी पर्यायों का तमिल लिप्यंतरणतमिल शब्दों के देवनागरी लिप्यंतरण से तथा उनके हिंदी पर्यायों के भी तमिल में लिप्यंतरण से इस कोश के दोनों भाषा भाषी प्रयोक्‍ताओं को संबंधित भाषा के शब्दों का निकटतम उच्‍चारण आसानी से समझने में सहायता मिलेगी यह कोश प्रकाशनाधीन है
 
 

TOP

 
 
BACK
INDEX
 
 
मुख्य पृष्ठ