केंद्रीय हिंदी निदेशालय (उच्चतर शिक्षा विभाग)
दृश्य-श्रव्य
हिंदी ऑडियो कैसेट्स
हिंदी वीडियो कैसेट्स
सी.डी.
अन्य सूचनाऍ
डाउनलोड फाम
 नई सूचनाऍ
आकॉइव्स
मुख्य पृष्ठ
वित्‍तीय सहायता
   
 

हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए स्वैच्छिक हिंदी संस्थाओं को वित्तीय सहायता

 
 

हिंदी संस्थाओं को सहायता की केंद्रीय योजना
आवेदन-पत्र (भाग – II)

 
 
 
भारत सरकार
केंद्रीय हिंदी निदेशालय
(मानव संसाधन विकास मंत्रालय)
 
(इस आवेदन पत्र को संस्था भरा जाएगा)
1. अनुदान के लिए आवेदन पत्र देने वाली संस्था / संगठन आदि का नाम (संस्था का स्तर रूप से लिखा जाए, तथा वह किसी बड़ी संस्था के साथ संबंधित है अथवा अपने आप में पूर्ण रूप से स्वतंत्र है और वह रजिस्टर्ड है या नहीं इत्यादि) । -- .................................................................
2. भवनों, फर्नीचर, साज-सामान, पुस्तकालय, पुस्तकें इत्यादि के रूप में संस्था/ संगठन की कुल -- .................................................................
3.

पिछले तीन वर्षों के दौरान राज्य सरकार या अन्य साधनों अनुदानों का ब्यौरा और दान इत्यादि  एकत्रित की गई राशि (प्रत्येक स्थिति में साधनों और प्रायोजना का उल्लेख रूप से और ठीक-ठाक करना चाहिए) ।

-- .................................................................
4. क्या राज्य सरकार से पहले भी सहायता अनुदान के लिए प्रार्थना की गई थी ? और यदि हाँ, तो क्या परिणाम हुआ ? -- .................................................................
5. संस्था/ संगठन इत्यादि के , कार्यकलाप का विवरण । -- .................................................................
6. उस योजना का नाम, जिसके लिए अनुदान की प्रार्थना की गई है । यहाँ यह भी लिख दिया जाए कि योजना आवर्ती है या अनावर्ती और यदि योजना आवर्ती हो तो कितनी अवधि तक वह चलती रहेगी । -- .................................................................
7. प्रायोजना/ योजना की उन उपयोगिताओं को बताते हुए संस्था की विशेषताओं का उल्लेख कीजिए, जिनके आधार पर वह केंद्रीय सहायता करने की अधिकारी हो । इसके यह बताइए कि यह संस्था किस प्रकार हिंदी के विकास और प्रचार के की पूर्ति करेगी । -- .................................................................
8. क्या प्रायोजना/ योजना को चलाने के लिए सुविधाएँ हैं ? -- .................................................................
9. जिस योजना के लिए अनुदान की प्रार्थना की गई है, उसका ब्यौरेवार विवरण इस प्रकार देना चाहिए जिससे उसमें एक-एक पैसे तक का हिसाब ठीक–ठाक दिया जाए और आवश्यकता पड़ने पर प्रत्येक की जाँच-पड़ताल की जा सके, जैसे :- -- .................................................................
(i) कर्मचारी वर्ग के संबंध में खर्च की स्थिति, कार्य करने वाले की संख्या और उसके नामों, अन्य वेतनमानों तथा अन्य लाभों के उनके पदनामों तथा कार्यों का विशेष रूप से विवरण देना चाहिए । -- .................................................................
(ii) साज-सामान के बारे में खरीदी जाने वाली प्रत्येक वस्तु का मूल्य और उसे खरीदने का कारण भी देना चाहिए । -- .................................................................
(iii) भवन निर्माण या उसकी मरम्मत करने की स्थिति में यह भी लिखना चाहिए कि क्या प्रस्तावित भवन के लिए भूमि है और उसका नक्शा और अनुमानित व्यय अनुमोदित करा लिए गए हैं, और यदि अनुमोदित करा लिए गए हों तो किस अधिकारी से ? -- .................................................................
(iv) भवन खरीदने की स्थिति में यह भी लिखना चाहिए कि क्या भवन की लागत का औचित्य प्रमाणित करा लिया गया है और यदि हाँ, तो किससे ? भवन की कुर्सी का कुल क्षेत्र और उसकी का कारण भी दिया जाए । भवन की करने के लिए यह आवश्यक होगा कि जिन मनुष्यों के लिए भवन की आवश्यकता हो उनकी संख्या भी दे दी जाए और इसी प्रकार की अन्य बातों का उल्लेख किया जाए । -- .................................................................

10.

प्रायोजना/योजना के आरंभ और पूरे होने की संभावित तिथियाँ

-- .................................................................
11. माँगे गए अनुदान की राशि । -- .................................................................
12. (स्तंभ 9 में से स्तंभ 2 घटाकर) योजना का कुल व्यय किन साधनों से पूरा किया जाएगा । -- .................................................................
13. नत्थी किए जाने वाले कागज़ों / विवरणों की सूची (दो प्रतियों में) :- -- .................................................................
  (क) संस्था के और लक्ष्यों का उल्लेख करने वाली विवरण पत्रिका या टिप्पणी । -- .................................................................
  (ख) प्रबंध मंडल का संठन, पदाधिकारियों और सदस्यों के नाम और विवरण तथा संस्था के पंजीकर-प्रमाण पत्र की प्रति -- .................................................................
  (ग) प्राप्त नवीनतम वार्षिक रिपोर्ट । -- .................................................................
  (घ) पिछले 3 वर्षों के जाँच लेखे (इसके साथ प्रमाणित तुलन-पत्रों (बैलेंस-शीट्स) की प्रतियाँ भी लगानी चाहिए । -- .................................................................
  (ङ) पिछले 5 वर्षों के केंद्रीय, राज्य सरकार, केंद्रीय समाज कल्याण मंडल, स्थानीय निकाय या अन्य किसी अर्ध-सरकारी संस्था से हायता (वर्ष, , राशि इत्यादि सहित) का विवरण । इस विवरण में इनमें से किसी भी संस्था को सहायता के लिए दिए गए प्रार्थना-पत्रों का भी उल्लेख शामिल होना चाहिए । -- .................................................................
  (च) प्रायोजना / योजना पर अनुमानित आवर्ती और अनावर्ती व्यय निम्नलिखित में से किसी के भी अनुमोदित हो । -- .................................................................
  (छ) भवन के नक्शों और प्राक्कथन, जो निम्नलिखित में से किसी के भी अनुमोदित हो । -- .................................................................
  (i) राज्य का सरकारी निर्माण विभाग, या -- .................................................................
  (ii) किसी स्थानीय निकाय, नगर निगम का सुधार न्यास (इंप्रूवमेंट ट्रस्ट) के इंजीनियरी विभाग का कम-से-कम कार्यकारी इंजीनियरी के स्तर का कोई अधिकारी । -- .................................................................
  (iii) राज्य सरकार के भवनों की देख-भाल के लिए शिक्षा विभाग नियुक्त किया गया कोई इंजीनियर (यदि किसी भवन के निर्माण का मूल्य 25.000/- रूपए से अधिक हो तो इस बात की घोषणा पर्याप्त होगी कि कार्य की दरें (रेट्स) राज्य के सरकारी निर्माण विभाग  ऎसे कार्य के लिए अनुमोदित दरों से अधिक नहीं है । -- .................................................................
  (ज) पहले ही साज-सामान, उपकरण, फर्नीचर, पुस्तकालय की पुस्तकें इत्यादि (संख्या के रूप में या जो भी संभव हो) का विवरण– यदि इन वस्तुओं के लिए अनुदान की प्रार्थना की जाए तो प्रस्तुत किया जाए । -- .................................................................
  (झ) यदि संस्था प्रकाशन का कार्य चलाना चाहती हो तो संस्था को प्रकाशन करने के लिए लेखक के अधिकार पत्र सहित पांडुलिपि की एक प्रतिलिपि भी साथ लगानी चाहिए । -- .................................................................
14. यदि कोई कागज हो तो उसकी सूची । -- .................................................................
15. सूचना, यदि कोई हो । -- .................................................................
   
 
 

हस्ताक्षर
पद का नाम ........................................
 कार्यालय की मोहर

 
   
 
BACK
INDEX
NEXT
 
मुख्य पृष्ठ